Heart blockage angioplasty Substitute Ayurvedic Medicine

How to Cure Heart Block By Ayurvedic Medicine :–

 Heart attack the word itself is a horror और आपको मालूम ही है एक angioplasty आपरेशन आपका होता है ! angioplasty आपरेशन मे डाक्टर दिल की नली मे एक spring डालते हैं ! उसको stent कहते हैं ! और ये stent अमेरिका से आता है और इसका cost of production सिर्फ about 3 डालर का है ! और यहाँ लाकर लाखो रुपए मे बेचते है आपको !

Hypertension is a main Cause now a days , and Increased acidity of blood make it more favorable to Heart Attack. आप इसका आयुर्वेदिक इलाज करे बहुत बहुत ही सरल है ! पहले आप एक बात जान ली जिये ! angioplasty आपरेशन कभी किसी का सफल नहीं होता !! क्यूंकि डाक्टर जो spring दिल की नली मे डालता है !! वो spring बिलकुल pen के spring की तरह होता है ! और कुछ दिन बाद उस spring की दोनों side आगे और पीछे फिर blockage जमा होनी शुरू हो जाएगी ! और फिर दूसरा attack आता है ! और डाक्टर आपको फिर कहता है ! angioplasty आपरेशन करवाओ ! और इस तरह आपके लाखो रूपये लुट जाते है और आपकी ज़िंदगी इसी मे निकाल जाती है ! ! ! Heart blockage angioplasty Ayurvedic Medicine

Ayurvedic Treatment For Heart Blockage  इसका आयुर्वेदिक इलाज !!

  • हमारे देश भारत मे 3000 साल एक बहुत बड़े ऋषि हुये थे उनका नाम था महाऋषि वागवट जी !!
  • उन्होने एक पुस्तक लिखी थी जिसका नाम है अष्टांग हृदयम!! और इस पुस्तक मे उन्होने ने बीमारियो को ठीक करने के लिए 7000 सूत्र लिखे थे ! ये उनमे से ही एक सूत्र है !!
  • वागवट जी लिखते है कि कभी भी हरद्य को घात हो रहा है ! मतलब दिल की नलियो मे इसवबांहम होना शुरू हो रहा है ! तो इसका मतलब है कि रकत ;इसववकद्ध मे ंबपकपजल;अमलता द्ध बढ़ी हुई है !
  • अमलता आप समझते है ! जिसको अँग्रेजी मे कहते है ंबपकपजल !!
  • अमलता दो तरह की होती है !
  • एक होती है पेट कि अमलता ! और एक होती है रक्त ;इसववकद्ध की अमलता !!
  • आपके पेट मे अमलता जब बढ़ती है ! तो आप कहेंगे पेट मे जलन सी हो रही है !! खट्टी खट्टी डकार आ रही है ! मुंह से पानी निकाल रहा है !
  • और अगर ये अमलता ;ंबपकपजलद्धऔर बढ़ जाये ! तो ीलचमतंबपकपजल होगी ! और यही पेट की अमलता बढ़ते.बढ़ते जब रक्त मे आती है तो रक्त अमलता;इसववक ंबपकपजलद्ध होती !!
  • और जब इसववक मे ंबपकपजल बढ़ती है तो ये अमलीय रकत ;इसववकद्ध दिल की नलियो मे से निकल नहीं पाता ! और नलिया मे इसवबांहम कर देता है ! तभी ीमंतज ंजजंबा होता है !! इसके बिना ीमंतज ंजजंबा नहीं होता !! और ये आयुर्वेद का सबसे बढ़ा सच है जिसको कोई डाक्टर आपको बताता नहीं ! क्यूंकि इसका इलाज सबसे सरल है !!

What is the Ayurvedic Treatment For it इलाज क्या है ??

  • वागबट जी लिखते है कि जब रकत यइसववकद्ध मे अमलता यंबपकजलद्ध बढ़ गई है ! तो आप ऐसी चीजों का उपयोग करो जो छारीय है !
  • आप जानते है दो तरह की चीजे होती है !
  • अमलीय और छारीय !!
  • ;ंबपक ंदक ंसांसपदम द्ध
  • अब अमल और छार को मिला दो तो क्या होता है ! घ्घ्घ्घ्घ्
  • ;;ंबपक ंदक ंसांसपदम को मिला दो तो क्या होता है द्धघ्घ्घ्घ्घ्
  • दमनजतंस होता है सब जानते है !!
  • तो वागबट जी लिखते है ! कि रक्त कि अमलता बढ़ी हुई है तो छारीय;ंसांसपदमद्ध चीजे खाओ ! तो रकत की अमलता ;ंबपकपजलद्ध दमनजतंस हो जाएगी !!! और फिर ीमंतज ंजजंबा की जिंदगी मे कभी संभावना ही नहीं !! ये है सारी कहानी !!
  • अब आप पूछोगे जी ऐसे कौन सी चीजे है जो छारीय है और हम खाये घ्घ्घ्घ्घ्
  • आपके रसोई घर मे सुबह से शाम तक ऐसी बहुत सी चीजे है जो छारीय है ! जिनहे आप खाये तो कभी ीमंतज ंजजंबा न आए !
  • सबसे ज्यादा आपके घर मे छारीय चीज है वह है लोकी !! मदहसपेी मे इसे कहते है इवजजसम हवनतक !!! जिसे आप सब्जी के रूप मे खाते है ! इससे ज्यादा कोई छारीय चीज ही नहीं है !
  • तो आप रोज लोकी का रस निकाल.निकाल कर पियो !! या कच्ची लोकी खायो !!
  • स्वामी रामदेव जी को आपने कई बार कहते सुना होगा लोकी का जूस पीयों. लोकी का जूस पीयों !
  • 3 लाख से ज्यादा लोगो को उन्होने ठीक कर दिया लोकी का जूस पिला पिला कर !! और उसमे हजारो डाक्टर है !
  • जिनको खुद ीमंतज ंजजंबा होने वाला था !! वो वहाँ जाते है लोकी का रस पी पी कर आते है !! 3 महीने 4 महीने लोकी का रस पीकर वापिस आते है आकर फिर बसपदपब पर बैठ जाते है ! वो बताते नहीं हम कहाँ गए थे ! वो कहते है हम न्योर्क गए थे हम जर्मनी गए थे आपरेशन करवाने ! वो राम देव जी के यहाँ गए थे ! और 3 महीने लोकी का रस पीकर आए है ! आकर फिर बसपदपब मे आपरेशन करने लग गए है ! और वो आपको नहीं बताते कि आप भी लोकी का रस पियो !!
  • तो मित्रो जो ये रामदेव जी बताते है वे भी वागवट जी के आधार पर ही बताते है !! वागवतट जी कहते है रकत की अमलता कम करने की सबे ज्यादा ताकत लोकी मे ही है ! तो आप लोकी के रस का सेवन करे !!

Doase of Solution :

  • रोज 200 से 300 मिलीग्राम पियो !!
  • कब पिये  When to
  • सुबह खाली पेट ;जवपसमज जाने के बाद द्ध पी सकते है !!
  • या नाश्ते के आधे घंटे के बाद पी सकते है !!
  • इस लोकी के रस को आप और ज्यादा छारीय बना सकते है ! इसमे 7 से 10 पत्ते के तुलसी के डाल लो
  • तुलसी बहुत छारीय है !! इसके साथ आप पुदीने से 7 से 10 पत्ते मिला सकते है ! पुदीना बहुत छारीय है ! इसके साथ आप काला नमक या सेंधा नमक जरूर डाले ! ये भी बहुत छारीय है !!
  • लेकिन याद रखे नमक काला या सेंधा ही डाले ! वो दूसरा आयोडीन युक्त नमक कभी न डाले !! ये आओडीन युक्त नमक अम्लीय है !!!!
  • तो मित्रो आप इस लोकी के जूस का सेवन जरूर करे !! 2 से 3 महीने आपकी सारी ीमंतज की इसवबांहम ठीक कर देगा !! 21 वे दिन ही आपको बहुत ज्यादा असर दिखना शुरू हो जाएगा !!!
  • कोई आपरेशन की आपको जरूरत नहीं पड़ेगी !! घर मे ही हमारे भारत के आयुर्वेद से इसका इलाज हो जाएगा !! और आपका अनमोल शरीर और लाखो रुपए आपरेशन के बच जाएँगे !!
  • और पैसे बच जाये ! तो किसी गौशाला मे दान कर दे ! डाक्टर को देने से अच्छा है !किसी गौशाला दान दे !!
  • इस लोकी के रस को आप और ज्यादा छारीय बना सकते है ! इसमे 7 से 10 पत्ते के तुलसी के डाल लो

 

Related Posts:
You May Also Like::